Monday, December 20, 2010

यन्त्र मन्त्र तन्त्र

भारतीय समाज में यन्त्र मन्त्र और तन्त्र के मामले में बहुत बुरी भ्रान्तियां फ़ैल चुकी है.मीडिया सीधे रूप से किसी मन्त्र का जाप करने वाले या किसी प्रकार से वैदिक मन्त्र आदि का जाप करने वाले को तान्त्रिक उपाधि देकर उसकी मन चाही हँसी उडवाने से नही चूकता है.अगर इन तीनो वैदिक शब्दों की पूरी तरह से व्याख्या की जावे तो जो सामने अर्थ आता है वह अनर्थ के रूप में नही लिया जावे.कितने ही लोगो ने इस प्रकार की धारणाओं के प्रति अपनी आस्था वैदिक या धर्म से निकल कर फ़ूहडपन की तरफ़ ले जाने की कोशिश की है,लेकिन इसका आस्तित्व आज तक बरकारा है

3 comments:

  1. namaskar

    Tantra kaise karte hai

    ReplyDelete
  2. agar kisika guru nahi hai to wo kya kare

    ReplyDelete
  3. Pratyek vayakti ko Guru dharan Karna chahiye.
    http://www.easy-mantra.com/guru-dev

    ReplyDelete